एक मनुष्य के पास दो बहुत ही सुंदर , जवान और तन्दुरुस्त बछड़े थे । एक दिन एक चोर ने उन्हें चुराने का निश्चय किया । चोरी करने के इरादे से चोर जब वहाँ पहुँचा तो उसने एक डरावना प्राणी देखा ।

 चोर ने उससे उसका परिचय पूछा । उसने अपना परिचय एक दानव के रूप में दिया । वह उस मनुष्य को खाने आया था । चोर ने उसे अपना इरादा बताया और फिर दोनों घर के भीतर प्रविष्ट हुए । चोर बछड़े चुराना चाहता था और दानव उस मनुष्य को पहले खाना चाहता था । दोनों में बहस छिड़ गई । आवाज से वह मनुष्य जाग गया । 

उसने दोनों की बातें सुनीं और उनका इरादा भी समझ गया । दानव को भगाने के लिए उसने पहले धूप जलाया और फिर जोर - जोर से प्रार्थना करने लगा । दानव डरकर भाग गया । फिर उस मनुष्य ने एक डंडा लिया और चोर को भी खदेड़ डाला । दोनों की बहस का लाभ उस मनुष्य ने उठा लिया था ।


 शिक्षाः दो की लड़ाई का लाभ तीसरा उठा लेता है ।

Post a Comment