एक समय की बात है .... एक किसान अपनी पत्नी तथा दो बच्चों के साथ रहता था । एक दिन किसान एक खूबसूरत बत्तख खरीदकर लाया ।
  Sone-ki-ande-dene-waali-murgi-Panchtantara-ki-kahaniya 
अगले दिन बत्तख ने एक सुनहरा अंडा दिया । किसान हैरान रह गया । उसने बाजार जाकर अंडा बेच दिया । अगले दिन बत्तख ने फिर से सुनहरा अंडा दिया । 

किसान और उसकी पत्नी बहुत प्रसन्न थे । प्रतिदिन सुनहरे अंडे बेचकर किसान धनवान हो गया । पत्नी के मन में लोभ समा गया । उसने सोचा , “ क्यों न इसके पेट से सभी अंडे निकाल लिए जाएँ !

 " किसान की पत्नी ने किसान से कहा , “ यदि हमलोग एक ही साथ सारे अंडे बेच दें तो कितने धनी हो जाएंगे ! " किसान को बात जँच गई । दोनों ने मिलकर बत्तख का पेट काटा । दोनों अचंभित रह गए क्योंकि पेट तो खाली था । दोनों अपनी मूर्खता पर विलाप करने लगे ।

 शिक्षा : लालच बुरी बला है ।

Post a Comment