एक बार की बात है। किसी समुद्र के किनारे एक पेड़ पर तीतर का एक जोड़ा रहता था । एक बार तीतरी ने तीतर से कोई दूसरा सुरक्षित स्थान ढूँढने के लिए कहा जिससे वह वहाँ अंडा दे सके । 

Hindi-Kahaniya-2023

उसे भय था कि कहीं समुद्र की लहरें उसके घोंसले को ही बहा न ले जाएँ । तीतर को अपने प्रभु पर बहुत विश्वास था । उसने तीतरी को समझाया कि समुद्र में उन्हें क्षति पहुँचाने की शक्ति नहीं है । तीतरी मन ही मन भयभीत थी पर तीतर की बात मानकर उसने वहीं अंडे दिए और फिर दोनों खाना लाने चले गए । समुद्र ने उन्हें अपनी शक्ति दिखाने का निश्चय किया । एक बड़ी सी लहर आई और अंडों को बहा ले गई । तीतर लौटे तो अंडो को गायब पाया । उन्होंने अपने प्रभु को बुलाया । प्रभु ने उन्हें सहायता का आश्वासन दिया । प्रभु ने समुद्र को डाँटा कि यदि वह अंडे वापस नहीं करेगा तो उसे सुखा दिया जाएगा । समुद्र ने डरकर किनारे पर अंडे फेंक दिए ।


 शिक्षाः विश्वास में बहुत शक्ति होती है ।


पढ़े और भी नई कहानियां

1 टिप्पणियाँ

एक टिप्पणी भेजें